For the best experience, open
https://m.theshudra.com
on your mobile browser.
Advertisement

विमर्श : शिवराज ने बेटे को अमेरिका में पढ़ाने की जगह हिंदू धर्म की रक्षा के लिए क्यों नहीं भेजा ?

05:40 PM May 19, 2022 IST | Sumit Chauhan
विमर्श   शिवराज ने बेटे को अमेरिका में पढ़ाने की जगह हिंदू धर्म की रक्षा के लिए क्यों नहीं भेजा
Advertisement

ये तस्वीरें अमेरिका की पेंसल्वेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी की है। जिस लड़के को LLM की डिग्री दी जा रही है, वो भारत के मध्यप्रदेश सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बेटा कार्तिकेय चौहान है। आप सोच रहे होंगे कि हम ये तस्वीर आपको क्यों दिखा रहे हैं? इसमें कौन सी बड़ी बात है ? अगर आप ऐसा सोच रहे हैं तो हम इसका जवाब ज़रूर देना चाहेंगे।

ये तस्वीर इसलिए ख़ास है क्योंकि बीजेपी के मुख्यमंत्री का बेटा अमेरिका की मशहूर पेंसल्वेनिया यूनिवर्सिटी से क़ानून की पढ़ाई कर रहा है और आपका बेटा हाथों में तलवार लेकर हिंदू धर्म की रक्षा करने के लिए दंगे कर रहा है। ये तस्वीर इसलिए अहम है कि आपको भड़काने वाले नेताओं के बच्चे ऐशो-आराम की ज़िंदगी जी रहे हैं और आपके बच्चे मस्जिदों पर भगवा झंडा लगाने के लिए अपना करियर बर्बाद कर रहे हैं।

Advertisement

शिवराज ने ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा प्रिय बेटे @ks_chauhan23 ने LLM की पढ़ाई @Penn के Carey Law School से पूरी कर ली है। कल दीक्षांत समारोह का यह वीडियो देख कर मन आनंद और गर्व से भर गया। ऐसे एतिहासिक अवसर पर माता पिता अपने बच्चों के साथ रहते है, पर अपने प्रशासनिक दायित्वों के कारण हम वहाँ उपस्थिति नहीं रह सके।

काश भारत का हर पिता अपने बच्चे को अच्छी शिक्षा मिलता देख ऐसे ही गर्व महसूस करता। काश भारत की हर माँ अपने बच्चों को विदेश पढ़ने के लिए भेज सकती लेकिन ये मौक़ा आपके बच्चों के लिए नहीं है। इस बारे में वरिष्ठ पत्रकार दिलीप सी मंडल लिखते हैं इनको आपने सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ाया, हिंदी मीडियम में भेजा, शाखा में भेजा और ही बजरंग दल में गौरक्षा करने के लिए भेजा। ऐसा करने के लिए आपको बधाई। आप एक समझदार पिता साबित हुए। बच्चे को भी मंगलकामनाएँ।’

अच्छे पिता क्या करते हैं, वो अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाते हैं, उनकी ज़िंदगी संवारते हैं.. और शिवराज इस मामले में अच्छे पिता साबित हुए क्योंकि उन्होंने अपने बेटे को गौरक्षा करने की जगह विदेश पढ़ने के लिए भेज दिया। ट्विटर पर कुलदीप रावत लिखते हैं ‘एक समझदार पिता की यही तो निशानी होती है वह अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देता है लेकिन कुछ मां बाप अपने बच्चों को बजरंग दल, संघ और जहर बोने वाले संगठन में भेजते हैं हमें शिवराज चौहान जी से सीखना चाहिए कि अपने बच्चों को शिक्षा कैसे दी जाती है बहुतबहुत मंगलकामनाएं आपको 

अब आप सोचिए, आपके बच्चे क्या कर रहे हैं ? आपके बच्चों से शिक्षा का अधिकार कौन छीन रहा है ? आपके बच्चों को दंगाई कौन बना रहा है ? आपके बच्चों के दिमाग़ में ज़हर कौन भर रहा है ? और आपके बच्चों की ज़िंदगियाँ बर्बाद करके असली मौज कौन ले रहा है? ज़रा सोचिए… क्योंकि सोचने पर अभी तक बैन नहीं लगा है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट, द न्यूज़ बीक 

Advertisement
Tags :
×